भगवान् महावीर बाल मंदिर - परिचय

लोक-सेवा के लिया साहित्य संस्थान द्वारा इस समय ३२७ छात्रों के उच्च प्राथमिक स्तर तक अध्यापन की व्यवस्था की गई है |

 

इतिहास

वर्तमान स्तिथि

विद्यालय - इस समय संस्था मुख्यालय पर‘‘भगवान महावीर बाल मंदिर माध्यमिक विद्यालय”नाम से एक स्कूल चलाया जा रहा है । जिसमें शिशु कक्षा से दसवीं तक अध्यापन करवाया जाता है । इस विद्यालय में इस समय 200 बच्चे पढते हैं । विद्यालय में राजस्थान शिक्षा विभाग द्वारा स्वीकृत पाठ्यक्रम लागू है । सभी बच्चों के फर्नीचर पर बैठने की व्यवस्था है । हर कक्षा के लिए अलग कमरा है । सभी बच्चों को संस्था की ओर से नि:शुल्क पुस्तके और अभ्यास पुस्तकाएँ प्रदान की जाती है ।

 

खेल एवं शारीरिक शिक्षा

बच्चो के उत्तम स्वास्थ्य को ध्यान में रखते हुए विद्यालय में शारीरिक शिक्षा एवं खेलों पर विशेष ध्यान दिया जाता है । हमारे विद्यालय के विद्यार्थियों को अलग अलग खेलो में भी पुरस्कार प्राप्त होते रहते है ।

 

कंप्यूटर शिक्षा

आज के समय की मांग को ध्यान में रखते हुए विद्यालय के विद्यार्थियों को कंप्यूटर शिक्षा दें देने की उत्तम व्यवस्था की गई है ।

 

बस सुविधा

विद्यालय के विधार्थी काफी दूर से भगवान् महावीर बाल मंदिर में शिक्षा प्राप्त करने के लिए आते है । विद्यालय की ओर से एक सौ बच्चों को पांच किलोमीटर दूर से विद्यालय ले आने और ले जाने की नि:शुल्क सुविधाकी गई है ।

 

परीक्षा परिणाम

विद्यालय के विधार्थी काफी दूर से भगवान् महावीर बाल मंदिर में शिक्षा प्राप्त करने के लिए आते है । विद्यालय की ओर से एक सौ बच्चों को पांच किलोमीटर दूर से विद्यालय ले आने और ले जाने की नि:शुल्क सुविधाकी गई है ।

 

पुरस्कार

‘चन्दनमल चांद प्रेरणा-पुरस्कार’

भारत जैन महामंडल के महामंत्री एवं अनेक सामाजिक , साहित्यिक संस्थाओं से सयुंक्त रहे | कवि साहित्यकार स्व.चन्दनमल ‘चांद’ की स्मृति में उनके पारिवारिक श्री धनराज जी सिंघी-परिवार श्री डूंगरगढ़ / मुंबई की ओर से विद्यालय की सभी कक्षाओं में प्रथम, द्वितीय एवं तृतीय स्थान प्राप्त करने वाले प्रतिभाशाली विद्यार्थियों को प्रेरणा स्वरूप यह पुरुस्कार प्रतिवर्ष १५ अगस्त को स्वतन्त्रता-दिवस , समारोह में प्रदान किया जाता है |

 

विशेष सहयोग

श्री प्रवीण कुमार जी अभिनव कुमार जी रणधीरोत कोठारी निवासी – टॉडगढ़, प्रवासी –चैन्नई कि ओर से उनके पिता श्री धर्मचंद जी कोठारी एवं मातुश्री संतोष देवी जी की स्मृति स्वरूप ‘भगवन महावीर बाल मंदिर उच्च प्राथमिक विद्यालय के छात्र -छात्राओं को पाठ्य पुस्तकें एवं अभ्यास पुस्तिकाएं नि: शुल्क उपलब्ध करवाई जा रही हैं |